शादी के बाद बदलते हैं रिश्ते

शादी के बाद आदमी और औरत पर काफी जिम्मेदारियां आ जाती है क्योंकि वह शादी के बाद एक से दो हो जाते हैं और एक परिवार से दो परिवार हो जाते हैं पत्नी को अपने ससुराल वालों को खुश रखने की चिंता लगी रहती है पति को अपनी पत्नी की सभी ख्वाहिशें पूरी करने की चिंता लगी रहती है और दोनों इसी तरह रिश्तों से दूर होते चले जाते हैं लड़की पर घर के काम-काज की जिम्मेदारियां और लड़के पर जॉब और घर चलने की जिम्मेदारियां होती हैं

शादी के बाद लाइफ में टेंशन और परेशानियां बढ़ जाती हैं शुरू में तो लड़की अपने मायके में 10-15 दिनों के लिए चली जाती होगी लेकिन कुछ समय बाद धीरे-धीरे ये भी बंद हो जाता है और फिर आप सिर्फ रिस्तेदार बन कर रह जाते हो अपने घरवालों के लिए लड़का अगर शादी के बाद अपनी सेलरी माँ का हाथों में दे तो पत्नी को परेशानी अगर पत्नी के हाथ में दे तो पति को परेशानी, लड़का पहले काम में दिमाग खराब करें फिर घर में खराब करें

फिर उसके बाद घर में लड़ाई झगड़े शुरू हो जाते हैं एक-दूसरे के मनों में दूरियां हो जाती हैं ये दूरियां कभी कम नहीं होती क्योंकि आज-कल किसी में सहनशीलता नहीं है और फिर पति-पत्नी कहीं बहार जाकर रहने लग जाते हैं और फिर धीरे-धीरे ये परिवार भी अलग ही हो जाता है और टूटे हुए रिश्ते कभी नहीं जुड़ते हैं ये रिश्ते तभी जुड़े रह सकते हैं जब आपमें सहनशीलता होगी चाहें आप घर में सबसे बड़ी हो या सबसे छोटी हो चाहें आप सास हो या बहू हों इसलिए रिश्तों को जोड़कर रखें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *